Thursday, July 23, 2009

यह ब्लॉग अक्षम बच्चों के संघर्ष को समर्पित है।

यह ब्लॉग अक्षम बच्चों के संघर्ष को समर्पित है। मानसिक रूप से अक्षम बच्चों के लिए अभी और कम करने की जरुरत है। भारत में मानसिक रूप से विकलांग बच्चों की संख्या तीन प्रतिशत है और इसके मुकाबले काम करनेवाली संस्थानों की संख्या काफी कम है। सरकार को और एनजियो को अभी और सार्थक कदम उठाने की जरुरत है।

2 comments:

AlbelaKhatri.com said...

surat me nirmit day care & hostel naamak ek sanstha me jaana hua sthaneey abhinav gujarat gaurav samiti dwara sanchalit is sanstha me lagbhag 36 bacche - bade hain jinhen atyant sneh aur seva ki zaroorat hai

aise maansik roop se viklaang logon k liye kuchh kar saken to ye hamara saubhagya hoga.......

Babli said...

मुझे आपका ब्लॉग बहुत अच्छा लगा! हमारे देश हजारों विकलांग बच्चे हैं जिन्हें देखकर बहुत तकलीफ होती हैं और उनके लिए अगर कुछ कर सकें तो इससे खुशी की बात और कुछ नहीं हो सकती! ये बड़ा ही नेक काम है! मेरे ब्लॉग पर आपका स्वागत है!
http://seawave-babli.blogspot.com
http://urmi-z-unique.blogspot.com
http://khanamasala.blogspot.com
http://amazing-shot.blogspot.com