Sunday, September 27, 2009

विशेष बच्चें ने मनाया दशहरा


यह ब्लॉग अक्षम बच्चों के संघर्ष को समर्पित है
विभिन्न प्रकार की मानसिक समस्याओं से जूझ रहे बच्चों को भी त्योहार का आनंद प्रदान करने के लिए शुक्रवार को सेक्टर—36 स्थित सोरेम इंस्टीट्यूट में दशहरा मनाया गया। कार्यक्रम में शामिल विशेष बच्चों और उनके अभिभावकों ने आपस में बातचीत कर विभिन्न समस्याओं का समाधान ढूंढऩे का भी प्रयास किया। इस मौके पर मोहाली दशहरा कमेटी के सहयोग से रावण, मेघनाद और कुंभकर्ण के पुतले जलाए गए। सोरेम की सचिव प्रोमिला चंद्रमोहन ने बताया कि दशहरा के उपलक्ष्य पर बच्चों को त्योहार की खुशियां प्रदान करने का यह हमारा छोटा सा प्रयास है। आतिशबाजी की बच्चों ने भी इस आयोजन का भरपूर आनंद लिया। इस मौके पर शानदार आतिशबाजी भी की गई।

2 comments:

Rajiv said...

अमलेंदु भाई,
आपका प्रयास पहले के तमाम प्रयासों की भांति सराहनीय है। मैं अगर इस काम में आपके किसी काम आ सका, तो आपका आभारी रहूंगा। किसी भी समय, किसी भी दिन आपके फ़ोन का इंतज़ार रहेगा।
राजीव किशोर
9999800850

amlendu asthana said...

राजीव, कंधों को सहारों की और मन को हौसलों की जरूरत होती है और समाज के ऐसे अपाहिज बच्चों को हर कदम पर हम-आप जैसे लोगों के सहारों की जरूरत है। एक साल हो गए मुझे ब्लॉग के माध्यम से इस मुहिम को चलाते हुए। आप मेरे पहले अुनज और जानकार हैं जिसने मेरा हौसला बढ़ाया है। धन्यवाद शब्द छोटा है पर आपका दे रहा हूं। आगे कई चीजें करना चाहता हूं, आपसे फोन पर संपर्क करुंगा। आपका------भाई